थाना अधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई सुसाइड मामले की जांच में जुटी सीबीआइ की टीम

  2020-06-29 11:29 pm


 राजस्थान में चूरू जिले के राजगढ़ पुलिस थाना अधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई सुसाइड मामले की जांच में जुटी सीबीआइ की टीम सोमवार दोपहर बाद मौके पर पहुंची। टीम में करीब एक दर्जन अधिकारी राजगढ़ पहुंचे हैं।

टीम ने सबसे पहले उस क्वाटर की जांच की जहां विश्नोई ने फांसी लगाकर आत्महत्या की थी। उसके बाद पुलिस थाने में पहुंची टीम ने मौके का जायजा लिया। टीम यहां एक-दो दिन रह सकती है। स्थानीय प्रशासन की तरफ से टीम को तीन वाहन, कंप्यूटर, फोटो स्टेट मशीन व लैंडलाइन टेलीफोन उपलब्ध करावाए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि अशोक गहलोत सरकार की सिफारिश के बाद सीबीआइ ने इस मामले को लेकर एफआइआर आरसी 04 (एस) /2020 दर्ज की है। टीम कलेक्‍टर और पुलिस अधीक्षक सहित सादुलपुर पुलिस थाना स्टाफ के बयान भी लेगी। सीबीआइ पुलिस अधीक्षक डीएम शर्मा के नेतृत्व में यह टीम यहां रहकर सीआइ विष्णुदत्त विश्नोई की मौत के रहस्यों की छानबीन करेगी।

कमरे में फांसी पर लटका मिला था शव

पिछले माह 23 मई की रात को राजगढ़ पुलिस थाना अधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। घटना के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था और राजनीति भी गरमा गई थी । सांसद राहुल कस्वां, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ और बसपा नेता मनोज न्यांगली धरने पर बैठ गए थे। जनप्रतिनिधियों की ओर से सीबीआई जांच की मांग की गई थी। परिजनों ने भी शव लेने से इनकार कर दिया था। परिजनों की रिपोर्ट पर राजगढ़ थाने में 24 मई को आईपीसी की धारा 306 में मामला दर्ज किया गया था। इस मामले में क्षेत्रीय कांग्रेस विधायक कृष्णा पूनिया पर विश्नोई को प्रताड़ित करने के आरोप लगे थे, हालांकि उन्होंने इससे इन्कार किया था।

विष्णुदत्त के शव के पास दो सुसाइड नोट मिले थे। इनमें एक पेज अपने माता-पिता के नाम तथा दुसरा पेज पुलिस अधीक्षक के नाम लिखा था। इनमें चारों तरफ प्रेशर बना देने तथा तनाव नहीं झेल पाने की बात कही गई थी। उसके बाद मामले की जांच को लेकर सीबी सीआईडी की टीम पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा के नेतृत्व में राजगढ़ पहुंची थी। करीब एक सप्ताह के दौरान स्टाफ के बयान लिए गए थे। सीबी सीआइडी टीम की ओर से डीजीपी भूपेन्द्र सिंह यादव को रिपोर्ट भी पेश की गई थी, लेकिन विश्नोई समाज व आमजन इससे संतुष्ट नहीं था। इस राज्य सरकार ने सीबीआइ के जांच सौंपी थी।

news news news news news news news news